12.02K Views Comments

सत्संग खत्म होने के बाद बाबा जी स्टेज के पीछे सीढियों से नीचे जा रहे थे, साथ में पाठी बीबी भी थे, पाठी बीबी बाबा जी से कहती हैं “बाबा जी आज तो काफी संगत आई है भंडारे पे, जरा अंदाज़े से बताइए की आज का सत्संग सुनने के लिए कितनी संगत आई थी
बाबा जी ने जवाब दिया, संगत पूछते हो तो 8 लाख के आस पास है और सत्संग सुनने वाले पूछते हो तो सिर्फ 13 सत्संगी आये थे, बीबी अचरज और हैरानी से बाबा जी को देखती हैं, बाबा जी फिर बोलते हैं की कोई छुट्टियाँ मनाने आया है तो कोई घूमने, कोई सस्ता सामान खरीदने आया है तो कोई अपनी इच्छाएं पूरी करवाने, किसी की कोई वजह है तो किसी की कोई दूसरी वजह ।

Read this?   गुरु जी बोले, ” जहाँ तुम अभी रहते हो वहां किस प्रकार के लोग रहते हैं ?”

बीबी ने फिर पूछा की उन 13 लोगों में मैं शामिल हूँ या नहीं, बाबा जी ने जवाब दिया, “आज भजन करने के लिए बैठना, आपको जवाब मिल जायेगा”

शिक्षा: हमें भी चाहिए की जब हम सत्संग जाएँ तो सिर्फ सत्संग सुनने के लिए और बाबा जी से मिलने और दर्शनों की इच्छा लेकर, ना कि किसी और वजह से, सोचो बाबा जी को कितनी तकलीफ़ होती होगी जब वो देखते होंगे कि केवल कुछ लोग ही सत्संग सुनने आते हैं ।

जरा सोचिये !!

राधा स्वामी जी

Read this?   लोभ का फंदा जिसके गले में एक बार पड़ा वह मुश्किल से ही निकल पाता है - एक दिलचस्प कहानी

Read in Engilsh Here

After finishing his Satsang, Baba Ji was at backstage, Pathi Bibi was also along with Baba Ji. While going down stairs, She said, “Baba Ji, today we have huge number of sangat in satsang, As per your gut filling, how many were there in today’s satsang?”

Baba ji replied, “If you are asking about numbers, then it were around 8 Lakhs (Eight hundred thousand), but if you are asking about people who were here just to listen santsang then they were only 13 people”

Bibi was shocked and looked at Baba Ji’s face with a question mark.

Baba ji then replied, “Many were here to spend their vacations, many were here because they wanted to take their children for outing, many were here to buy items to save money and lot of were here so that their wishes come true. Everybody has his or her own reasons to be here.”

Read this?   kahani do kisano ki - Radha Soami Ji

Bibi asked another question, “Am I included in those 13 people?”

BABAJI replied : “Today when you would sit for your bhajan / simran, you’d get your answer”

Moral: We should not go to satsangs with other purposes in our head other than to listen and follow satsang AND to meet our master and his darshans.

Just give it a thought !!

Radha Soami Ji

Please share this Story/Video on: