Tag: babaji ki sakhi

Sort: Date | Views |
View:

बाबा सावन सिंह जी की साखियों से एक विशेष प्रसंग

1.43K Views

बड़े हजूर बाबा सावन सिंह जी की साखियों से एक विशेष प्रसंग है । जो झेलम की साखी का है नाम दान देने से पहले जीवो को कुछ हिदायते दिया करते थे । मॉस, शराब , पर स्त्री ,पर पुरुष , झूठ , चोरी ,निंदा छोड़ने के साथ ही...

चीजें हमेशा वैसी नहीं होतीं, जैसी दिखती… एक रोचक कहानी

10.60K Views

सन्तों की अपनी ही मौज होती है! एक संत अपने शिष्य के साथ किसी अजनबी नगर में पहुंचे। रात हो चुकी थी और वे दोनों सिर छुपाने के लिए किसी आसरे की तलाश में थे। उन्होंने एक घर का दरवाजा खटखटाया, वह एक धनिक का घर था और अंदर स...

जैसे जैसे हम नाम का सिमरन करते जाते है वैसे वैसे…

6.46K Views

जैसे जैसे हम नाम का सिमरन करते जाते है वैसे वैसे भीतर की सारी गन्दगी भी निकलती जाती है।बाबा जी कहते है की कलयुग में सिर्फ एक ही साधन है ।नामरूपि जहाज। जिसपर सवार होकर ही जिव सचखण्ड तक पहुच सकते है।आत्मा और परमात्...

Baba ji ki Sakhi NAAM DAAN PRASHAD Radha Soami Ji

8.85K Views

rssbeas #radha soami ji Please watch RADHA SOAMI NEW GROUP SONG. This video and mp3 song of Dukhbhanjan tera naam ji new radha soami shabad 2016 august is ... Baba ji ki sakhi 2 naam daan prashad radha soami ji. Baba ...

जरुरत से अधिक लालच अच्छा नहीं Greedy Boy – Inspirational Story

2.36K Views

किसी नगर में हरिदत्त नाम का एक ब्राम्हण निवास करता था उसकी खेती साधारण ही थी | इसलिए अधिकांश समय वो खाली ही रहा करता था | एक बार ग्रीष्म ऋतू  में अपने खेत पर वृक्ष की शीतल छाया में लेता हुआ था सोये सोये उसने अपने समीप...

जिन्दगी में जो हम देते है हमे वही वापिस मिलता है – Rssbeas Inspirational Story

2.72K Views

हम में से हर किसी के पास अपनी जिन्दगी है लेकिन फिर भी कुछ लोग होते है जो असल मायने में इसे जीते है या यूँ कहूँ एक संजीदा जिन्दगी जो दूसरों के लिए भी खुशियों के मायने बने ऐसी जिन्दगी जी पाना बहुत मुश्किल होता है क्योकि...

एक फ़कीर और सिकंदर का राज्य – Fakir Or Sikandar ki Kahani Inspirational Story

2.10K Views

सिकंदर जब भारत लौटा तो एक फ़कीर से मिलने गया तो सिकंदर को आते देख फ़कीर हंसने लगा इस पर सिकंदर ने ने मन में किया कि ये तो मेरा अपमान है और फ़कीर से कहा “या तो तुम मुझे जानते नहीं हो या फिर तुम्हारी मौत आई है ” जानते ह...

जैसा अन्न वैसा मन – Jaisa Ann waisa mann Short Inspiration Story rssbeas babaji

1.75K Views

बासमती चावल बेचने वाले एक सेठ की स्टेशन मास्टर से साँठ-गाँठ हो गयी। सेठ को आधी कीमत पर बासमती चावल मिलने लगा। सेठ ने सोचा कि इतना पाप हो रहा है , तो कुछ धर्म-कर्म भी करना चाहिए। एक दिन उसने बासमती चावल की खीर बनवायी औ...

Page 1 of 212