Tag: babaji stories

Sort: Date | Views |
View:

आलस्य को त्यागकर श्रम करने की सीख देती एक प्रेणादायक कहानी

7.18K Views

एक बार की बात है कि एक शिष्य अपने गुरु का बहुत आदर-सम्मान किया करता था |गुरु भी अपने इस शिष्य से बहुत स्नेह करते थे लेकिन  वह शिष्य अपने अध्ययन के प्रति आलसी और स्वभाव से दीर्घसूत्री था |सदा स्वाध्याय से दूर भागने की ...

लोभ का फंदा जिसके गले में एक बार पड़ा वह मुश्किल से ही निकल पाता है – एक दिलचस्प कहानी

4.24K Views

एक धनी व्यक्ति दिन-रात अपने व्यापारिक कामों में लगा रहता था। उसे अपने स्त्री-बच्चों से बात करने तक की फुरसत नहीं मिलती थी। पड़ोस में ही एक मजदूर रहता था जो एक रुपया रोज कमाकर लाता और उसी से चैन की वंशी बजाता। रात को वह...

मैं चाहूँ तो आपकी इज्जत एक मिनट में बिगाड़ भी सकती हूँ और बना भी सकती हूँ

5.25K Views

  एक पति-पत्नी में तकरार हो गयी —पति कह रहा था : “मैं नवाब हूँ इस शहर का लोग इसलिए मेरी इज्जत करते है और तुम्हारी इज्जत मेरी वजह से है।” पत्नी कह रही थी : “आपकी इज्जत मेरी वजह से है। मैं चाहूँ तो आपकी इज्जत ए...

अगर भगवान पर विश्वास करते है तो हमें हर पल उनकी अनुभूति होती है- Motivational Story

4.83K Views

एक बार एक व्यक्ति नाई की दुकान पर अपने बाल कटवाने गया| नाई और उस व्यक्ति के बीच में ऐसे ही बातें शुरू हो गई और वे लोग बातें करते-करते “भगवान” के विषय पर बातें करने लगे| तभी नाई ने कहा – “मैं भगवान (Bhagwan) के अस्त...

भगवान उसी की मदद करता है जो अपनी मदद खुद करता है – Motivational Story

6.69K Views

  एक गाँव में एक साधू रहते थे जो दिन रात कड़ी तपस्या करते थे और उनका भगवान पर अटूट विश्वास था | एक बार गाँव में भयंकर तेज बारिश हुई| बढ़ते हुए पानी को देखकर गाँव वाले सुरक्षित स्थान पर जाने लगे| लोगों ने उस स...

फ़क़ीर और खुदा का रिश्ता A Motivational Story Babaji

2.72K Views

फ़क़ीर और खुदा का रिश्ताहज़रत मूसा खुदा से बातें करने के लिए रोज़ पहाड़ पर जाया करते थे..एक दिन हज़रत मूसा को रास्ते मेंएक औरत मिली और बोली। मूसा आप हर रोज़ खुदा से बातें करने पहाड़ पर जाते है।मेरे घर कोई औलाद नहींहै आप खुदा ...

जब न्यूटन को नौकर ने सुझाया सही रास्ता – Motivational Story

2.83K Views

लालबहादुर शास्त्री प्रधानमंत्री होने के बावजूद अत्यंत सरल, सादगी संपन्न और दूसरों का सम्मान करने वाले व्यक्ति थे | वे अधिकतर महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करते वक्त अपने सहयोगियों अथवा अपने नौकर या माली से पूछ बैठते क्यो...

The story of 2 friends – a successful second failed Why?

1.74K Views

मनोज और विमल दोनों बचपन के पक्के दोस्त थे। स्कूल की पढाई साथ साथ ही पूरी की और अब कॉलेज की डिग्री भी दोनों लोगों ने साथ में ही पूरी की। किस्मत की बात तो देखो दोनों दोस्तों को एक ही कंपनी में अच्छी नौकरी भी मिल गयी। ...

Page 4 of 512345