Tag: babaji story

Sort: Date | Views |
View:

बाबा जी ने पीछे देखा और सत्संगी से पूछा – एक प्रेणादायक कहानी

8.59K Views

एक हिन्दू सन्यासी अपने शिष्यों के साथ गंगा नदी के तट पर नहाने पहुंचा. वहां एक ही परिवार के कुछ लोग अचानक आपस में बात करते-करते एक दूसरे पर क्रोधित हो उठे और जोर-जोर से चिल्लाने लगे . संयासी यह देख तुरंत पलटा और अपन...

सेठ ने एक लड़के कोनौकरी पर रख लियालेकिन सेठ थोड़े शक्कीकिस्म का था….

18.24K Views

एक सेठ ने अपने घर में साफ़ सफाई के लिए एक लड़के को नौकरी पर रख लिया लेकिन सेठ थोड़े शक्की किस्म का था और उसे लड़के की पर भरोसा नहीं था तो उसकी ईमानदारी परखने के लिए सेठ ने सेठ ने उसकी परीक्षा लेनी चाही तो फर्श पर एक रूपये...

दरवाजा खटखटाते ही एक लड़की ने दरवाजाखोला, जिसे देखकर वह घबरा गया और बजाय खाने के उस..

12.23K Views

एक बार एक लड़का अपने स्कूल की फीस भरने के लिए एक दरवाजे से दूसरे दरवाजे तक कुछ सामान बेचा करता था, एक दिन उसका कोई सामान नहीं बिका और उसे बड़े जोर से भूख भी लग रही थी. उसने तय किया कि अब वह जिस भी दरवाजे पर जायेगा, उस...

उस कागज को पढ़ते ही माँ कि आँखों से आँसू बहने लगे – एक दिलचस्प कहानी

5.99K Views

एक दिन एक छोटा सा बालक जो कि प्राइमरी स्कूल का छात्र था, भागते-भागते अपने घर आया और एक कागज का पन्ना अपनी माँ को दिया और बोला….”मेरे शिक्षक ने यह कागज दिया है और कहाँ है कि इसे अपनी माँ को ही देना.” उस कागज को पढ़त...

बाबाजी इन दोनों तोतों के व्यवहार में आखिर इतना अंतर कयों है?

3.37K Views

एक बार एक राजा शिकार के उद्देश्य से अपने काफिले के साथ किसी जंगल से गुजर रहा था | दूर दूर तक शिकार नजर नहीं आ रहा था, वे धीरे धीरे घनघोर जंगल में प्रवेश करते गए | अभी कुछ ही दूर गए थे की उन्हें कुछ डाकुओं के छिपने की ...

अगर मै अकेली एक बाल्टी पानी डाल दूं तो किसी को क्या पता चलेगा – एक प्रेणादायक कहानी

4.36K Views

एक बार एक राजा के राज्य में महामारी फैल गयी। चारो ओर लोग मरने लगे। राजा ने इसे रोकने के लिये बहुत सारे उपाय करवाये मगर कुछ असर न हुआ और लोग मरते रहे। दुखी राजा ईश्वर से प्रार्थना करने लगा। तभी अचानक आकाशवाणी हुई। आसमा...

गुरु जी का शिष्यों को आखिरी उपदेश – एक प्रेणादायक कहानी

5.66K Views

गुरुकुल में शिक्षा प्राप्त कर रहे शिष्यों  में आज काफी उत्साह था , उनकी बारह वर्षों की शिक्षा आज पूर्ण हो रही थी और अब वो अपने घरों को लौट सकते थे . गुरु जी भी अपने शिष्यों की शिक्षा-दीक्षा से प्रसन्न थे और गुरुकुल की...

आलस्य को त्यागकर श्रम करने की सीख देती एक प्रेणादायक कहानी

5.80K Views

एक बार की बात है कि एक शिष्य अपने गुरु का बहुत आदर-सम्मान किया करता था |गुरु भी अपने इस शिष्य से बहुत स्नेह करते थे लेकिन  वह शिष्य अपने अध्ययन के प्रति आलसी और स्वभाव से दीर्घसूत्री था |सदा स्वाध्याय से दूर भागने की ...

Page 4 of 9« First...23456...Last »