Tag: Inspirational Story

Sort: Date | Views |
View:

लोग रोते है – पांच साल के बच्चे को लेकर पहली बार ब्यास गया था…

4.60K Views

मेरा एक दोस्त अपनी वाइफ़ और पांच साल के बच्चे को लेकर पहली बार ब्यास गया था उसकी वाइफ़ ने पहले कभी सतगुरु को नहीं देखा था। वो मेरी वाइफ़ और बच्चो के साथ थी जेसे ही सतगुरु ने सत्संग शुरू किया और सामने आये उस...

लड़कियां बड़ी लड़ाका होती हैं – मैंने देखा एक लड़की महिला सीट…

2.10K Views

लड़कियां बड़ी लड़ाका होती हैं... मैंने देखा एक लड़की महिला सीट पर बैठे पुरुष को उठाने के लिए लड़ रही थी तो दूसरी लड़की महिला - कतार में खड़े पुरुष को हटाने के लिए लड़ रही थी मैंने दिमाग दौड़ाया तो हर ओर लड़की को लड़ते...

बेवक़ूफ़ गृहणी: एक औरत की सची दासतान

3.11K Views

बेवक़ूफ़ गृहणी: एक औरत की सची दासतान।।।।।।। एक गृहणी वो रोज़ाना की तरह आज फिर ईश्वर का नाम लेकर उठी थी । किचन में आई और चूल्हे पर चाय का पानी चढ़ाया। फिर बच्चों को नींद से जगाया ताकि वे स्कूल के लिए तैयार हो सकें । कु...

संत को यकीं था कि एक दिन भगवान श्री कृष्ण मुझे साक्षात् दर्शन जरूर देंगे

1.80K Views

एक बार श्रीमद्भागवत कथा सुनते समय गुरुदेव के मुख से एक कथा सुनी वो आपके लिए यहाँ पर लिख रहा हूँ। यह कथा सुनकर आपके ह्रदय में भगवान के लिए प्रेम जरूर जागेगा। एक बार की बात है। एक संत जंगल में कुटिया बना कर रहते थे औ...

बाबाजी अपने किसी सेवक के साथ कार में कहीं जा रहे थे रास्ते में आम की गाड़ी दिखाई दी

5.12K Views

सतगुरु जब चाहे तारे बाबाजी एक बार अपने किसी सेवक के साथ कार में कहीं जा रहे थे रास्ते में एक आम की गाड़ी दिखाई दी. बाबाजी ने गाड़ी रुकवाई. आम वाले से कहा कि ऊपर के दो, और साईड के तीन हटाकर अंदर के आम निकाल कर त...

हुजूर ने मिसेज वुड के घर पे सेवादारों की एक मीटिंग बुलाई

2.02K Views

1979 में श्री हुज़ूर महाराज जी के इँग्लैंड दौरे के दौरान, हुजूर ने मिसेज वुड के घर पे सेवादारों की एक मीटिंग बुलाई, मिसेज वुड, इँग्लैंड में हुजूर महाराज जी की प्रतिनिधि है। उस मीटिंग में मिसेज वुड ने श्री कुन्दन सोंधी ...

हजूर महाराज जी ने एक पत्र का जवाब दिया

2.80K Views

Huzur Maharaj ji in responsed to a letter. Dear sister Do not diminish your heart. Never think that you are alone in a moment or you are being ignored or no one is watching you. You are receiving every help fr...

एक सत्संगी सेवा करने आता था उसकी स्टोरी

3.01K Views

one at a time Satsangi came to serve, ten day After the service was over, he was about to go home day First broke his leg, he Very sad and his mind I came to know that ten days served his In turn, the shank b...