Tag: radha soami story

Sort: Date | Views |
View:

भगवान ने उसके पास जाकर कहा – मैं तुम्हें बचाना चाहता हूं

6.89K Views0 Comments

एक इंसान घने जंगल में भागा जा रहा था। . शाम हो गई थी। . अंधेरे में कुआं दिखाई नहीं दिया और वह उसमें गिर गया। . गिरते-गिरते कुएं पर झुके पेड़ की एक डाल उसके हाथ में आ गई। जब उसने नीचे झांका, तो देखा कि कुएं में च...

उसका उत्तर सुनकर मैं तो जड़-सी हो गई – एक प्रेणादायक कहानी

7.57K Views0 Comments

वो समझदार बहू शाम को गरमी थोड़ी थमी तो मैं पड़ोस में जाकर निशा के पास बैठ गई। आखिर ,उसकी सासू माँ भी तो कई दिनों से बीमार है….. सोचा ख़बर भी ले आऊँ और निशा के पास बैठ भी आऊँ। मेरे बैठे-बैठे पड़ोस में रहने वाली उसकी...

रेनू सिर्फ इतना ही कह पायी की फोन कट गया – एक नई पहल

7.35K Views0 Comments

एक नई पहल....... उसने ट्रेन के टॉयलेट के दरवाज़े के पीछे लिखें नंबर में कॉल लगाया , "हाँ आप रेनू बोल रहीं हैं" " जी हाँ , लेकिन आप कौन और आपको मेरा ये नंबर कहाँ से मिला " "दरसल वो ट्रेन , दरसल वो ट्रेन के डिब्ब...

चलिए हम ही बता देते हैं कि आगे उस लड़की ने क्या किया– एक प्रेणादायक कहानी

7.01K Views0 Comments

1. धूर्त साहूकार और चालाक लड़की बात बहुत समय पहले की हैं। एक किसान को अपनी बुरी आर्थिक स्थिति से हार मानकर  गांव के ही एक साहूकार से क़र्ज लेना पड़ा, लेकिन काफी वक्त बीत जाने पर भी वह साहूकार का ऋर्ण नहीं चुका पाया। गाँ...

नेक काम – यमराज हाथ पकड़कर खींचने लगा…

9.45K Views0 Comments

**************** लघुकथा  **************** नेक काम कई बार आवाज लगाने के बाद भी श्रीमती जी ने चाय नहीं दी । देखा छः बज गए हैं । आँखे मलते हुए मैं उठ बैठा । अरे यह क्या ? घर लोगों से भरा था ! एक सफेद चद्दर उढ़ा , किसी क...

द्वार खुला होने के कारण उनकी आवाजें बाहर कमरे में बैठी माँ को भी सुनाई दे रहीं थीं…

11.61K Views0 Comments

बेटा-बहु अपने बैडरूम में बातें कर रहे थे। द्वार खुला होने के कारण उनकी आवाजें बाहर कमरे में बैठी माँ को भी सुनाई दे रहीं थीं। बेटा---" अपने job के कारण हम माँ का ध्यान नहीं रख पाएँगे, उनकी देखभाल कौन करेगा ? क...

एक सेवादार भाई जो व्यास मे सेवा करते है मुलाकात हुई – एक प्रेणादायक कहानी

16.93K Views0 Comments

.. साखी .... एक सेवादार भाई जो व्यास मे सेवा करते है मुलाकात हुई गुरू घर की काफी बाते हुई उन्होंने हुजूर महाराज जी के समय की एक बात बतायी । हुजूर महाराज जी आई कैम्प का सेवादारो को प्रसाद दे रहे थे।ऊधर जहाँ मंगलसैन क...

गुरु जी बोले, ” जहाँ तुम अभी रहते हो वहां किस प्रकार के लोग रहते हैं ?”

9.64K Views0 Comments

अच्छे लोग बुरे लोग ! बहुत समय पहले की बात है. एक बार एक गुरु जी गंगा किनारे स्थित किसी गाँव में अपने शिष्यों के साथ स्नान कर रहे थे . तभी एक राहगीर आया और उनसे पूछा , ” महाराज, इस गाँव में कैसे लोग रहते हैं, दरअसल...