Tag: radha soami story

Sort: Date | Views |
View:

मैं खुद को शर्मिंदा हूं और आपसे माफी मांगना चाहता हूं – एक प्रेरणादायक कहानी

607 Views

Bahut samay pahale kee baat hai , kisee gaanv mein ek kisaan rahata tha . vah roz bhor mein uthakar door jharanon se svachchh paanee lene jaaya karata tha . is kaam ke lie vah apane saath do bade ghade le jaata th...

एक सत्संगी सेवा करने आता था उसकी स्टोरी

1.99K Views

one at a time Satsangi came to serve, ten day After the service was over, he was about to go home day First broke his leg, he Very sad and his mind I came to know that ten days served his In turn, the shank b...

तुम किसी और से प्रेम नहीं करोगे …वर्ना मेरी आत्मा तुम्हे चैन से जीने नहीं देगी

6.03K Views

क आदमी की पत्नी अचानक से बहुत बीमार पड़ गयी . मरने से पहले उसने अपने पति से कहा , “ मैं तुम्हे बहुत प्यार करती हूँ …. तुम्हे छोड़ कर नहीं जाना चाहती… मैं नहीं चाहती की मेरे जाने के बाद तुम मुझे भुला दो और किसी दूसरी औरत...

धरती फट रही है – एक प्रेरणादायक कहानी

3.57K Views

बहुत समय पहले की बात है किसी जंगल में एक गधा बरगद के पेड़ के नीचे लेट कर आराम कर रहा था . लेटे-लेटे उसके मन में बुरे ख़याल आने लगे , उसने सोचा ,” यदि धरती फट गयी तो मेरा क्या होगा ?” अभी उसने ऐसा सोचा ही था कि उसे ...

Habits tell the whereabouts of aught – Story Hindi

6.58K Views

*आदतें औकात का पता बता देती हैं...* एक राजा के दरबार मे एक अजनबी इंसान नौकरी मांगने के लिए आया। उससे उसकी क़ाबलियत पूछी गई, तो वो बोला, "मैं आदमी हो चाहे जानवर, शक्ल देख कर उसके बारे में बता सकता हूँ। राजा ने...

बाप ने बेटी को गले से लगा लिया – एक दिलचस्प कहानी जरूर पढ़े…

20.00K Views

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ एक घर में एक बेटी ने जनम लिया, जन्म होते ही माँ का स्वर्गवास हो गया। बाप ने बेटी को गले से लगा लिया। रिश्तेदारों ने लड़की के जन्म से ही ताने मारने शुरू कर दिए कि पैदा होते ही माँ को खा गयी मनहूस...

वह दरवाजा खोलती है और भोंचक्की रह जाती है – एक प्रेणादायक कहानी

6.91K Views

हमेशा अच्छा करो ??एक औरत अपने परिवार के सदस्यों के लिए रोज़ाना भोजन पकाती थी और एक रोटी वह वहाँ से गुजरने वाले किसी भी भूखे के लिए पकाती थी..। वह उस रोटी को खिड़की के सहारे रख दिया करती थी, जिसे कोई भी ले सकता था...

मैं खुद पर शर्मिंदा हूँ और आपसे क्षमा मांगना चाहता हूँ – एक प्रेणादायक कहानी

10.81K Views

?बहुत समय पहले की बात है , किसी गाँव में एक किसान रहता था . वह रोज़ भोर में उठकर दूर झरनों से स्वच्छ पानी लेने जाया करता था . इस काम के लिए वह अपने साथ दो बड़े घड़े ले जाता था , जिन्हें वो डंडे में बाँध कर अपने कंधे प...

Page 1 of 812345...Last »