Tag: rssbeas stories

Sort: Date | Views |
View:

भगवान उसी की मदद करता है जो अपनी मदद खुद करता है – Motivational Story

6.28K Views

  एक गाँव में एक साधू रहते थे जो दिन रात कड़ी तपस्या करते थे और उनका भगवान पर अटूट विश्वास था | एक बार गाँव में भयंकर तेज बारिश हुई| बढ़ते हुए पानी को देखकर गाँव वाले सुरक्षित स्थान पर जाने लगे| लोगों ने उस स...

फ़क़ीर और खुदा का रिश्ता A Motivational Story Babaji

2.63K Views

फ़क़ीर और खुदा का रिश्ताहज़रत मूसा खुदा से बातें करने के लिए रोज़ पहाड़ पर जाया करते थे..एक दिन हज़रत मूसा को रास्ते मेंएक औरत मिली और बोली। मूसा आप हर रोज़ खुदा से बातें करने पहाड़ पर जाते है।मेरे घर कोई औलाद नहींहै आप खुदा ...

जब न्यूटन को नौकर ने सुझाया सही रास्ता – Motivational Story

2.54K Views

लालबहादुर शास्त्री प्रधानमंत्री होने के बावजूद अत्यंत सरल, सादगी संपन्न और दूसरों का सम्मान करने वाले व्यक्ति थे | वे अधिकतर महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा करते वक्त अपने सहयोगियों अथवा अपने नौकर या माली से पूछ बैठते क्यो...

The story of 2 friends – a successful second failed Why?

1.58K Views

मनोज और विमल दोनों बचपन के पक्के दोस्त थे। स्कूल की पढाई साथ साथ ही पूरी की और अब कॉलेज की डिग्री भी दोनों लोगों ने साथ में ही पूरी की। किस्मत की बात तो देखो दोनों दोस्तों को एक ही कंपनी में अच्छी नौकरी भी मिल गयी। ...

असली चोर कौन था – Clever King A Inspirational Story

1.97K Views

एक बार की बात है, एक नगर में एक राजा रहता था जिसके खजाने भरपूर भरे हुए थे. एक दिन कालू नाम के चोर ने राजा के खजाने को चोरी करने की योजना बनाई. आधी रात को कालू राजा के महल में चोरी करने पहुँच गया. वह खजाने के दरवाजे मे...

एक बोरी गेहूँ – Motivational Story

2.08K Views

प्रतापनगर एक बहुत ही संपन्न राज्य था। वहाँ के राजा बहुत ही प्रतापी थे और प्रजा का पूरा ख्याल रखते थे। राजा ने पूरे जीवन प्रजा की मन से सेवा की थी लेकिन अब वह बूढ़े हो चले थे तो मन में बड़ी दुविधा थी कि उनके बाद राज्य को...

Your feelings decides your destiny

2.15K Views

एक गरीब आदमी राह पर चलते भिखारियों को देखकर हमेंशा दु:खी होता और भगवान से प्रार्थना करता कि: “हे भगवान! मुझे इस लायक तो बनाता कि मैं इन बेचारे भिखारियों को कम से कम 1 रूपया दे सकता।“ भगवान ने उसकी सुन ली और उसे ...

Kal kare so aaj kar

1.70K Views

आज ही क्यों नहीं ? एक बार की बात है कि एक शिष्य अपने गुरु का बहुत आदर-सम्मान किया करता था |गुरु भी अपने इस शिष्य से बहुत स्नेह करते थे लेकिन  वह शिष्य अपने अध्ययन के प्रति आलसी और स्वभाव से दीर्घसूत्री था |सदा स्वाध्...

Page 4 of 6« First...23456