Tag: story by babaji

Sort: Date | Views |
View:

हुजूर ने मिसेज वुड के घर पे सेवादारों की एक मीटिंग बुलाई

2.02K Views

1979 में श्री हुज़ूर महाराज जी के इँग्लैंड दौरे के दौरान, हुजूर ने मिसेज वुड के घर पे सेवादारों की एक मीटिंग बुलाई, मिसेज वुड, इँग्लैंड में हुजूर महाराज जी की प्रतिनिधि है। उस मीटिंग में मिसेज वुड ने श्री कुन्दन सोंधी ...

मैं खुद को शर्मिंदा हूं और आपसे माफी मांगना चाहता हूं – एक प्रेरणादायक कहानी

1.35K Views

Bahut samay pahale kee baat hai , kisee gaanv mein ek kisaan rahata tha . vah roz bhor mein uthakar door jharanon se svachchh paanee lene jaaya karata tha . is kaam ke lie vah apane saath do bade ghade le jaata th...

धरती फट रही है – एक प्रेरणादायक कहानी

4.01K Views

बहुत समय पहले की बात है किसी जंगल में एक गधा बरगद के पेड़ के नीचे लेट कर आराम कर रहा था . लेटे-लेटे उसके मन में बुरे ख़याल आने लगे , उसने सोचा ,” यदि धरती फट गयी तो मेरा क्या होगा ?” अभी उसने ऐसा सोचा ही था कि उसे ...

मैं खुद पर शर्मिंदा हूँ और आपसे क्षमा मांगना चाहता हूँ – एक प्रेणादायक कहानी

10.94K Views

?बहुत समय पहले की बात है , किसी गाँव में एक किसान रहता था . वह रोज़ भोर में उठकर दूर झरनों से स्वच्छ पानी लेने जाया करता था . इस काम के लिए वह अपने साथ दो बड़े घड़े ले जाता था , जिन्हें वो डंडे में बाँध कर अपने कंधे प...

इस बात पर समोसेवाले गोपाल ने बडा सोचा, और बोला…

8.68K Views

एक बडी कंपनी के गेट के सामने एक प्रसिद्ध समोसे की दुकान थी, लंच टाइम मे अक्सर कंपनी के कर्मचारी वहाँ आकर समोसे खाया करते थे। एक दिन कंपनी के एक मैनेजर समोसे खाते खाते समोसेवाले से मजाक के मूड मे आ गये। मैनेजर ...

लड़की ने पिता से पूछा अब हम क्या करें? – एक दिलचस्प कहानी

11.19K Views

Very Emotional And motivation story एक लड़की कार चला रही थी और पास में उसके पिताजी बैठे थे. राह में एक भयंकर तूफ़ान आया और लड़की ने पिता से पूछा -- अब हम क्या करें? पिता ने जवाब दिया -- कार चलाते रहो. तूफ़ान में कार ...

अब वह किसी भी तरह सास से छुटकारा पाने की सोचने लगी – एक दिलचस्प कहानी

9.14K Views

"एक चुटकी ज़हर रोजाना"   पोस्ट अच्छा लगे तो प्लीज शेयर करना मत भूलना आरती नामक एक युवती का विवाह हुआ और वह अपने पति और सास के साथ अपने ससुराल में रहने लगी। कुछ ही दिनों बाद आरती को आभास होने लगा कि उसकी सास के ...

उसका उत्तर सुनकर मैं तो जड़-सी हो गई – एक प्रेणादायक कहानी

7.46K Views

वो समझदार बहू शाम को गरमी थोड़ी थमी तो मैं पड़ोस में जाकर निशा के पास बैठ गई। आखिर ,उसकी सासू माँ भी तो कई दिनों से बीमार है….. सोचा ख़बर भी ले आऊँ और निशा के पास बैठ भी आऊँ। मेरे बैठे-बैठे पड़ोस में रहने वाली उसकी...